भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन – महाराष्ट्र में क्रांतिकारिता का उदय

इस टेस्ट का उद्देश्य भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन में महाराष्ट्र में शुरुआती क्रांतिकारिता से सम्बंधित ज्ञान को परखना है। टेस्ट भारतीय शुरुआती राष्ट्रीय आंदोलन के क्रांतिकारिता के बारे में है।

परीक्षासंघ लोक सेवा आयोग (UPSC) व राज्य सेवा आयोग में होने वाली सभी परीक्षाओ के लिए
कुल प्रश्न15
टेस्ट बेंचमार्क50%
नकारात्मक मार्किंग1/3

Results

-

Short Test Analysis

 

बहुत अच्छा !!! अपने अच्छा स्कोर किया है। आप और ज्यादा प्रैक्टिस करने के लिए हमारे दूसरे टेस्ट दे सकते है।

testmonkey.in

Short Test Analysis

आपको थोड़ी और मेहनत की जरुरत है। और ज्यादा प्रैक्टिस करने के लिए आप हमारे कई टेस्ट दे सकते है।

testmonkey.in

#1. भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन में शुरुआती क्रांतिकारीयों का मूल सिद्धांत क्या था :

#2. किस घटना के बाद महाराष्ट्र के क्रांतिकारिता को गहरा धक्का लगा और 1910 तक आते आते क्रांतिकारियों की शक्ति क्षीण हो गयी थी :

#3. कार्बोनारी कहाँ का गुप्त संगठन था जिससे शुरुआती और बाद के क्रन्तिकारी प्रेरित होते रहे :

#4. किसने 1895 में पूना में कांग्रेस के पंडाल में हो रहे समाज सुधार सम्मलेन का विरोध किया था:

#5. मिर्ज़ा अब्बास, सिकदर हयात किस क्रांतिकारी को सहयोग कर रहे थे ताकि ब्राउनी पिस्तौल भारत पहुंच सके :

#6. नासिक षड्यंत्र सम्बंधित है :

#7. 1899 में नासिक में "मित्र मेला" की स्थापना का तात्कालिक कारण क्या था :

#8. कर्जन वाइली को गोली मार कर हत्या की घटना के सन्दर्भ में कौनसा युग्म सही है :

#9. महाराष्ट्र में क्रांतिकारी विचारधारा के बारे क्या सही है :

#10. रैंड और एयस्टे की जून, 1897 में गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी, क्यों:

#11. व्यायाम मण्डल सम्बंधित है :

#12. 1871 में कलकत्ता में चीफ जस्टिस नार्मन की हत्या किसके द्वारा की गयी थी :

#13. इनमे से कौन चापेकर बंधू का सही युग्म है :

#14. 1908 के बाद महाराष्ट्र के क्रांतिकारी आंदोलन में जोरदार उबाल आया , कई जगह बम बनाने के कारखाने खुले, बड़ी संख्या में युवा जुड़े आदि : इन सभी का क्या कारण था:

#15. भारतीय आंदोलन में क्रांतिकारी के शुरुआती उदय का इनमें से क्या मूल कारण रहा होगा:

Finish